कण कण में व्याप्त मैं भी

कण कण में व्याप्त मैं भी, तेरे संग गुफाओं में, हवाओं में, तेरे संग सागर में, शिलाओं में, तेरे संग शरीर की शिराओं में, तेरे संग केश कोशिकाओं में, तेरे…

मेरी कई माँ हैं

हिन्दी मेरी देवकी है, अंग्रेजी मेरी यशोदा। मारवाड़ी मेरी दादी-माँ है, बंगाली मेरी मासी-माँ। संस्कृत मेरी बड़ी दादी माँ हैं। इन्होंने सभी ने अपने अपने ढंग से मेरा पोषण किया…